सर्द हवाएं और चेहरे का हाल

सर्द मौसम, ठंडी हवाएं और रूखी त्वचा। सर्दियों के मौसम में अक्सर इन चीजों का सामना करना पड़ता है। लेकिन कुछ प्रयोग के जरिये आप इस मौसम में भी अपनी त्वचा को चमकदार बना सकते हैं।
मौसम
सर्दियों का मौसम और ठंडी हवा चेहरे की नमी को चुरा लेते हैं। इसके कारण त्वचा रूखी और खुश्क होने लगती है, लेकिन कुछ चीजों का ध्यान रखने से आप अपनी त्वचा को सर्दियों में भी सुंदर रख सकती है। सर्दियों में चलने वाली शीतलहर हमारे चेहरे के आवश्यक तेलों को सुखा देती है। 
इस मौसम में हमारी त्वचा बेजान और रूखी होने लगती है। जिन लोगों की त्वचा रूखी होती है, उनके लिए इस मौसम के साथ अपनी त्वचा को स्वस्थ रखना बहुत मुश्किल हो जाता है। इसके लिए अपनी त्वचा का अच्छे से रख रखाव करना बहुत जरूरी है। 


  • जब तापमान गिर रहा होता है तो गर्म पानी से नहाना और उसका इस्तेमाल करना बहुत ही आनंदित हो जाता है। लेकिन अगर आप अपनी त्वचा से प्यार करती है तो, सर्दियों में ज्यादा गर्म पानी से दूर रहें, क्योंकि गर्म शावर आपकी त्वचा को रुखा होने पर मजबूर करता है और यदि आप तुरंत इसे मॉइस्चरिज नहीं करती हैं, तो आपकी त्वचा में दरारें और एक्जिमा भी विकसित हो सकती है। एक बार जब आप गर्म पानी का इस्तेमाल कर लेती है, तो मॉइस्चराइजर का अपनी बॉडी पर जरूर इस्तेमाल करें। 
  • प्राकृतिक सामग्रीयों का उपयोग क्र घर में बने फेस मास्क और फेस पैक, आपकी त्वचा को हानिकारक रासायनिक पदार्थों के जोखिम से बचाते हैं। शहद, जोजोबा ऑयल, एवोकाडो ऑयल, एलो वेरा और केले जैसे घरेलू वस्तुएं त्वचा में नमी के स्तर को बनाये रखती हैंसाथ ही ये त्वचा को मुहासों और निशानों से भी बचाती है और आपकी त्वचा को सदा स्वस्थ रखती हैं। 
  • सर्दियों के दौरान कॉफी और शराब का सेवन करने से बचें, क्योंकि ये पदार्थ आपकी त्वचा को डीहाइड्रेट करते हैं और इसे शुष्क बनाते हैं। बहुत जरूरी है की सर्दियों के दौरान आप अपनी इन आदतों को दूर करें। 
  • सर्दियों के दौरान कोशिश करें कि आप अपनी त्वचा से ऊनी कपड़ों को थोड़ दूर रखें, क्योंकि ऊन आपकी त्वचा को रुखा बना कर उस पर खुजली पैदा कर आपको परेशान कर सकती है। त्वचा के संपर्क में सिर्फ मुलायम कपड़ों को ही रखें और उसके ऊपर ऊनी अथवा मोटे कपड़े पहनें। 
  • सर्दियों के दौरान अक्सर होता है की धूप नहीं निकलती है पर फिर भी यह जरूरी है कि आप सनस्क्रीन लगाए बिना घर से बाहर न निकलें। सूर्य की हानिकारक यूवी किरणें बादलों को पार कर सकती हैं और स्किन को नुक्सान पहुंचाने का कारण बन सकती हैं। इसलिए चाहे सूर्य निकला हो या न हो, बहुत जरूरी है कि आप सनस्क्रीन का हमेशा प्रयोग करें। 
  • इस मौसम में सबसे पहले हमारे हाथ ही ड्राई होना शुरू होते हैं। ऐसे में जरूरी है की आप अपने हाथों को समय समय पर किसी अच्छे मॉइस्चराइजर से मॉइस्चराइज करती रहें। नहाने के एकदम बाद अपने पुरे शरीर को भी अच्छे से मॉइस्चराइज करें, जिससे आपके शरीर में नमी बरकरार रहेगी और सर्दियों में भी आपकी त्वचा स्वस्थ, चमकती और दमकती रहेगी। 
  • अपने घर और ऑफिस में एक हुमिडिफायर का प्रयोग कर सकती हैं, जो सर्दी की शुष्क हवा में नमी ला देगा और आपकी त्वचा को हाइड्रेट रखने में मदद करेगा।    


गुलाब जल से आएगा निखार        

  • चेहरे को साफ़ करने और चमक बढ़ाने के लिए गुलाब जल का इस्तेमाल बहुत पुरानी और प्रचिलित विधि है। गुलाब जल रोमछिद्रों को खोलता है, जिससे त्वचा बेहतर तरीके से सांस ले पाती है। जब त्वचा बेहतर तरीके से सांस लेती है तो वह खुद चमकने लगती है। 
  • एक चम्मच चन्दन पाउडर में आधा चम्मच नीम्बू का रस डालकर पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को नियमित रूप से चेहरे पर लगाएं और सूख जाने पर ठन्डे पानी से चेहरा साफ़ कर लें। 
  • पुदीने की दस पत्तियों को पीसकर उसमे थोड़ा सा गुलाब जल और आधा चम्मच चीनी मिलाएं और इस पेस्ट को नियमित रूप से चेहरे पर दो बार लगाएं। चेहरे की खोई रंगत लौट आएगी। 
  • टमाटर के गूदे में आधे नीम्बू का रस मिला दें और इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं। 
  • कच्चे दूध में नींबू का रस मिलाकर लगाने से रंगत निखरती है। 
  • आलू और लौकी के छिलको को नियमित रूप से रगड़ने से त्वचा की रंगत में निखार आता है। 
  • पपीते के बीज को पीसकर इस पेस्ट को चेहरे पर लगाने से भी त्वचा में निखार अत है। 


त्वचा भीतर से रहेगी खूबसूरत 

  • चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए दिन में चार-पांच बार जीरायुक्त पानी पियें। 
  • पपीते का नियमित सेवन से त्वचा निखरती है। 
  • एक पके केले में आधा चम्मच शहद मिलाकर मसल लें। इस मिश्रण को फेस पैक की तरह चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद चेहरा धो लें। चेहरा खिल उठेगा। 
  • तरबूज का रस निकालकर चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद चेहरा धो लें। 
  • दही और पिसा हुआ चावल के आटे से चेहरे को स्क्रब करे हफ्ते में दो बार चेहरा खिल उठेगा। इसके लिए आपको दो चम्मच दही और एक चम्मच चावल का आटा लेना है। 

Unknown
Unknown

This is a short biography of the post author. Maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec vitae sapien ut libero venenatis faucibus nullam quis ante maecenas nec odio et ante tincidunt tempus donec.

1 comment: